Aankhon Me Uska Khwab

Aankhon Me Uska Khwab

Sukun Ki Talash Me Tumhari Aankhon Me Jhaka Tha Humne,
Kise Pata Tha Kambakht Dil Ka Dard Aur Mil Jayega.

सुकून की तलाश में तुम्हारी आँखों में झाँका था हमने,
किसे पता था कम्बखत दिल का दर्द और मिल जाएगा।

Shor Na Kar Dhadkan Jara, Tham Ja Kuch Pal Ke Liye,
Badi Mushkil Se Meri Aankhon Me Uska Khwab Aaya Hai.

शोर न कर धड़कन ज़रा, थम जा कुछ पल के लिए,
बड़ी मुश्किल से मेरी आखों में उसका ख्वाब आया है।

Aankhen Shayari, Aankhon Me Unka Khwaab

Yun Hi Gujar Jaati Hain Shaame Anjuman Me Tumhari,
Kuchh Teri Aankho Ke Bahane Kuchh Teri Baato Ke Bahane.

यूँ ही गुजर जाती है शामें अंजुमन में तुम्हारी,
कुछ तेरी आँखों के बहाने कुछ तेरी बातो के बहाने।

Tumhri Nigahen Bahut Bolti Hain,
Jara Apni Aankhon Par Palko Kr Parde Gira Do.

तुम्हारी निगाहें बहुत बोलती हैं
जरा अपनी आँखों पे पलकों के परदे गिरा दो।

Leave a Comment