Aansu Ki Kimat

Aansu Ki Kimat

Aansu Ki Kimat Jo Samajh Li Unhone,
Unhe Bhoolker Bhi Muskurate Rahe Ham,

आँसू की कीमत जो समझ ली उन्होने,
उन्हे भूलकर भी मुस्कुराते रहे हम।

Meethi Yaadon Se Gir Raha Tha Ye Aansu,
Phir Bhi Na Jaane Kyon Ye Khara Tha.

मीठी यादों से गिर रहा था ये आँसू,
फिर भी न जाने क्यों यह खारा था।

Aansu Shayari - Aansu Teri Yaad Ke

Meri Aankhon Se Gire Hain Yeh Jo Chand Katre,
Jo Samajh Sako To Aansu Na Samajho To Pani.

मेरी आँखों से गिरे हैं यह जो चंद कतरे,
जो समझ सको तो आँसू न समझो तो पानी।

Jane Kitne Aansu Bahate Hain Hum Ishq Mein Har Roz,
Itne Aansu Peekar Bhi Ye Ishq Pyasa Kyun Hai Khuda.

जाने कितने आँसू बहाते हैं हम इश्क में हर रोज,
इतने आँसू पीकर भी ये इश्क प्यासा क्यूँ है खुदा।

Leave a Comment