Ajeeb Si Betaabi

Ajeeb Si Betaabi

Ajeeb Si Betaabi Rehti Hai Tere Bina,
Reh Bhi Lete Hain Aur Raha Bhi Nahi Jata.

अजीब सी वेताबी रहती है तेरे बिना,
रह भी लेते हैं और रहा भी नहीं जाता।

ajeeb si betabi - alone shayari

Leave a Comment