Beauty Shayari, Fizayen Rangeen Hain

Beauty Shayari, Fizayen Rangeen Hain

Kuchh Fizayen Rangeen Hain, Kuchh Aap Haseen Hain,
Tareef Karun Ya Chup Rahun Jurm Dono Sangeen Hain.

कुछ फिजायें रंगीन हैं, कुछ आप हसीन हैं,
तारीफ करूँ या चुप रहूँ जुर्म दोनो संगीन हैं।

Fizayen Rangeen Hain - Beauty Shayari Hindi

Aur Bhi Is Jahan Mein Aaenge Aashiq Kitne,
Unaki Aankhon Ko Tumko Dekhne Ki Hasrat Rahe.

और भी इस जहां में आएंगे आशिक कितने,
उनकी आंखों को तुमको देखने की हसरत रहे।

Ye Aaine Na De Sakenge Tujhe Tere Husn Ki Khabar,
Kabhi Meri Ankhon Se Aa Ke Pooch Ke Kitni Khubsurat Hai Tu.

ये आईने न दे सकेंगे तुझे तेरे हुस्न की खबर,
कभी मेरी आँखों से आ के पूछ के कितनी खूबसूरत है तू।

Na Nikla Karo Yoon Aaj Kal Raaton Ko,
Wo Chaand Chhup Jayega Yoon Dekhakar Aapko

ना निकला करो यूँ आज कल रातों को,
वो चाँद छुप जायेगा यूँ देखकर आपको।

Dekhkar In Aankhon Ko Madhosh Hua Jaata Hoon,
Teri Tareef Kiye Bina Sanam Main Rah Nahin Pata Hoon.

देखकर इन आँखों को मदहोश हुआ जाता हूँ,
तेरी तारीफ किये बिना सनम मैं रह नहीं पाता हूँ।

Pata Nahin Kaisi Masoomiyat Hai Tere Chehre Par,
Tere Samne Aane Se Jyada, Chhupkar Dekhna Pasand Hai.

पता नहीं कैसी मासूमियत है तेरे चेहरे पर,
तेरे सामने आने से ज्यादा, छुपकर देखना पसंद है।

Leave a Comment