Bhala Kya Deta Koi

Bhala Kya Deta Koi

Dua Nahi To Gila Deta Koi,
Meri Wafa Ka Sila Deta Koi.
Jab Muqaddar Hi Nahi Tha Apna,
Deta Bhi To Bhala Kya Deta Koi.

दुआ नहीं तो गिला देता कोई,
मेरी वफ़ा का सिला देता कोई,
जब मुकद्दर ही नहीं था अपना,
देता भी तो भला क्या देता कोई।

Mulakaten Rah Jati Hai Suhani Yaaden Bankar,
Baaten Rah Jati Hai Kahani Bankar, Par
Pyar To Hamesha Dil Ke Kareeb Rahta Hai,
Kabhi Honthon Pe Muskaan…
To Kabhi Aankhon Me Pani Bankar.

मुलाकातें रह जाती है सुहानी यादें बनकर,
बातें रह जाती है कहानी बनकर, पर
प्यार तो हमेशा दिल के करीब रहता है,
कभी होंठों पे मुस्कान…
तो कभी आँखों में पानी बनकर।

Zuban Khamosh Aankhon Me Nami Hogi,
Ye Bas Ek Dastaan-E-Zindagi Hogi,
Bharne Ko To Har Zakhm Bhar Jayega,
Kaise Bharegi Wo Jagah Jahan Teri Kami Hogi.

ज़ुबान खामोश आँखों में नमी होगी,
ये बस एक दास्तां-ए ज़िंदगी होगी,
भरने को तो हर ज़ख्म भर जाएगा,
कैसे भरेगी वो जगह जहाँ तेरी कमी होगी।

Leave a Comment