Bujhi Shama Bhi

Bujhi Shama Bhi

Bujhi Shama Bhi Jal Sakti Hai,
Tufano Se Kashti Nikal Sakti Hai,
Ho Ke Mayus Yun Na Apne Irade Badal,
Teri Kismat Kabhi Bhi Badal Sakti Hai.

बुझी शमा भी जल सकती है,
तूफानों से कश्ती भी निकल सकती है,
हो के मायूस यूँ ना अपने इरादे बदल,
तेरी किस्मत कभी भी बदल सकती है।

Jo Fakeeri Mijaaj Rakhte Hain
Wo Thhokron Me Taaj Rakhte Hain,
Jinko Kal Ki Fikr Nahi…
Wo Mutthhi Me Aaj Rakhte Hain.

जो फकीरी मिजाज रखते हैं
वो ठोकरों में ताज रखते हैं,
जिनको कल की फ़िक्र नहीं
वो मुठ्ठी में आज रखते हैं।

Sikandar Halaat Ke Aage Nahin Jhukta,
Tara Toot Bhi Jaye Jameen Par Nahin Girta,
Girte Hain Hajaro Dariya Samundar Me,
Kabhi Koi Samundar Kisi Dariya Me Nahi Girta.

सिकंदर हालात के आगे नहीं झुकता,
तारा टूट भी जाए जमीन पर नहीं गिरता,
गिरते है हजारो दरिया समुंदर में,
कभी कोई समुंदर किसी दरिया में नहीं गिरता।

Leave a Comment