Chhu Gaya Khayal Tera

Chhu Gaya Khayal Tera

Chhu Gaya Jab Kabhi Khayal Tera, Dil
Mera Der Tak Dhadkta Raha,
Kal Tera Zikr Chhid Gaya Ghar Mein,
Aur Ghar Der Talak Mahekata Raha.

छू गया जब कभी ख्याल तेरा,
दिल मेरा देर तक धड़कता रहा,
कल तेरा जिक्र छिड़ गया घर में,
और घर देर तलक महकता रहा।

Qadar Kar Lo Unki Jo
Tumse Bina Matlab Ki Chahat Karte Hain,
Duniya Me Khayal Rakhne Wale Kam
Aur Takleef Dene Wale Jyada Hote Hain.

क़दर कर लो उनकी जो
तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं,
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम
और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते हैं।

Bewaqt Mere Khayalon Me
Aane Ki Aadat Chhod Do Tum,
Kasoor Tumhara Hota Hai
Aur Log Mujhe Aawara Samjhte Hain.

बेवक़्त मेरे ख्यालों में
आने की आदत छोड़ दो तुम,
कसूर तुम्हारा होता है
और लोग मुझे आवारा समझते हैं।

Kitna Ajeeb Hai Logon Ka
Andaaz-E-Mohabbat,
Roz Ek Naya Zakhm Dekar Kahte Hain
Apna Khayal Rakhna.

कितना अजीब है लोगों का
अंदाज़-ए-मोहब्बत,
रोज़ एक नया ज़ख्म देकर कहते हैं
अपना ख्याल रखना।

Leave a Comment