Dard-E-Ishq

Dard-E-Ishq

Mujhe Dard-E-Ishq Ka Mazaa Maloom Hai,
Mujhe Dard-E-Dil Ki Intiha Maloom Hai,
Zindgi Bhar Muskurane Ki Duaa Mat Dena,
Mujhe Pal Bhar Muskurane Ki Saza Maloom Hai.

मुझे दर्द-ए-इश्क़ का मज़ा मालूम है,
दर्द-ए-दिल की इन्तहा मालूम है,
ज़िंदगी भर मुस्कुराने की दुआ मत देना,
मुझे पल भर मुस्कुराने की सज़ा मालूम है।

sad girl

Jakhm Mera Hai Dard Mujhe Hota Hai,
Jamane Me Koun Kiska Hota Hai,
Unhe Neend Nahin Aati Jo Mohabbat Karte Hain,
Jo Dil Todta Hai Wo Chain Se Sota Hai.

ज़ख्म मेरा है दर्द मुझे होता है,
ज़माने में कौन किसका होता है,
उन्हें नींद नहीं आती जो मोहब्बत करते हैं,
जो दिल तोड़ता है वो चैन से सोता है।

Hum Mareej-E-Ishq Ke
Wo Bhi The Hakeem-E-Dil,
Deedar Ki Dava Di Kuch Pal Ke Liye
Fir Dard Ki Pudiya Baandh Di.

हम मरीज-ए-इश्क़ के
वो भी थे हकीम-ए-दिल,
दीदार की दवा दी कुछ पल के लिए,
फिर दर्द की पुड़िया बांध दी।

Leave a Comment