Dard Hume Tadpayega

Dard Hume Tadpayega

In Gham Ki Galiyon Me
Kab Tk Ye Dard Hume Tadpayega,
In Rasto Par Chalte Chalte
Humdard Koi Mil Jayega.

इन ग़म की गलियों में
कब तक ये दर्द हमें तड़पाएगा,
इन रस्तों पे चलते-चलते
हमदर्द कोई मिल जाएगा।

boy on way

Unhe Kya Pata Jo Kahte Hain
Har Waqt Roya Na Karo,
Main Kaise Samjhaun Kuch Dard
Sahne Ke Kabil Nahin Hote.

उन्हें क्या पता जो कहते हैं
हर वक़्त रोया ना करो,
मैं कैसे समझाऊं कुछ दर्द
सहने के काबिल नही होते।

Wo Josh-e-Tanhai Shab-e-Gham,
Wo Har Taraf Bekasi Ka Aalam,
Kati Hai Aankhon Me Raat Saari
Tadap Tadap Kar Sahar Hui Hai.

वो जोश-ए-तन्हाई शब्-ए-ग़म,
वो हर तरफ बेकसी का आलम,
कटी है आँखों में रात सारी,
तड़प तड़प कर सहर हुई है।

Leave a Comment