Dard Ko Dafan Kar

Dard Ko Dafan Kar

Har Dard Ko Dafan Kar Gehrayi Me Kahin,
Do Pal Ke Liye Sab Kuchh Bhulaya Jaaye,
Rone Ke Liye Ghar Me Kone Bahut Se Hain,
Aaj Mehfil Me Chalo Sabko Hansaya Jaaye.

हर दर्द को दफ़न कर गहराई में कहीं,
दो पल के लिए सब कुछ भुलाया जाये,
रोने के लिए घर में कोने बहुत से हैं,
आज महफ़िल में चलो सबको हंसाया जाये।

Leave a Comment