Dhadkta Dard Me Hai

Dhadkta Dard Me Hai

Kar Leta Hun Bardast Har Dard Isi Aas Ke Saath,
Ki Khuda Noor Bhi Barsata Hai Ajmaishon Ke Baad.

कर लेता हूँ बर्दाश्त हर दर्द इसी आस के साथ,
कि खुदा नूर भी बरसाता है आज़माइशों के बाद।

Sheesha To Toot Kar, Apni Kashish Bata Deta Hai
Dard To Us Patthar Ka Hai, Jo Tootne Ke Kabil Bhi Nahi.

शीशा तो टूट कर, अपनी कशिश बता देता है,
दर्द तो उस पत्थर का हैं, जो टुटने के काबिल भी नही।

broken mirror

Kahte Hain Dil Se Jyada Mahfooj Jagah Nahin Duniya Me Aur Koi,
Fir Na Jane Kyun Sabse Jyada Yahin Se Log Lapata Hote Hai.

कहते हैं दिल से ज्यादा महफूज जगह नहीं दूनिया में और कोई,
फिर भी ना जाने क्यों सबसे ज्यादा यहीं से लोग लापता होते हैं।

Wo Jaan Gai Thi Hume Dard Me Muskrane Ki Adat Hai,
Wo Roj Naya Jakhm Deti Thi Meri Khushi Ke Liye.

वो जान गयी थी ,हमे दर्द में मुस्कराने की आदत हैं 
वो रोज नया जख्म देती थी मेरी ख़ुशी के लिए।

Tera Aur Mera Itna Hi Kissa Hai,
Tu Mere Dard Ka Ek Aham Hissa Hai.

तेरा और मेरा इतना ही किस्सा हैं,
तू मेरे दर्द का एक अहम हिस्सा हैं।

Leave a Comment