Dil Ka Dard

Dil Ka Dard

Dil Ka Dard Hamara Bhi Ab ,
Sari Hadein Aar Paar Kar Raha Hai,
Dilbar Bhi Kitna Sangdil Hai,
Ek Jurm Baar Baar Kar Raha Hai.

दिल का दर्द हमारा भी अब
सारी हदें आर पार कर रहा है,
दिलबर भी कितना संगदिल है
एक जुर्म को बार बार कर रहा है।

alone girl

Kisi Ne Yun Hi Pooch Liya Humse
Ki Dard Ki Keemat Kya Hai,
Humne Hanste Huye Kaha
Pata Nahin… Kuch Apne Muft Me De Gaye.

किसी ने यूँ ही पूछ लिया हमसे
कि दर्द की कीमत क्या है,
हमने हँसते हुए कहा,
पता नहीं कुछ अपने मुफ्त में दे गए।

Dard Kaafi Hai Bekhudi Ke Liye,
Maut Kaafi Hai Zindgi Ke Liye,
Kaun Marta Hai Kisi Ke Liye,
Hum To Zinda Hain Aapke Liye.

दर्द काफी है बेखुदी के लिए,
मौत काफी है ज़िन्दगी के लिए,
कौन मरता है किसी के लिए,
हम तो ज़िंदा है आपके लिए।

Leave a Comment