Dosti Ki Dor

Dosti Ki Dor

Koshish Koi Aapse Na Ruthe,
Zindagi Me Apno Ka Sath Na Chhute,
Dosti Koi Bhi Ho Use Aisa Nibhao,
Ki Us Dosti Ki Dor Zindagi Bhar Na Toote.

कोशिश करो कोई आपसे ना रूठे,
जिंदगी में अपनों का साथ ना छूटे,
दोस्ती कोई भी हो उसे ऐसा निभाओ,
कि उस दोस्ती की डोर जिंदगी भर ना टूटे।

Dosti Ki Dor - Best Friend Shayari

Tufan Hai Zindagi To Sahil Hai Teri Dosti,
Safar Hai Meri Zindagi To Manjil Hai Teri Dosti,
Maut Ke Baad Mil Jayegi Mujhe Jannat,
Zindagi Bhar Rahe Agar Kayam Teri Dosti.

तूफ़ान है जिंदगी तो साहिल है तेरी दोस्ती,
सफ़र है मेरी जिंदगी तो मंजिल है तेरी दोस्ती,
मौत के बाद मिल जायेगी मुझे जन्नत,
जिंदगी भर रहे अगर कायम तेरी दोस्ती।

Na Chhupana Koi Baat Dil Mein Ho Agar,
Rakhna Thoda Bharosa Ham Par,
Ham Nibhaenge Dosti Ka Yah Rishta Is Kadar,
Ki Bhulane Par Bhi Na Bhula Paoge Hamen Zindagi Bhar.

ना छुपाना कोई बात दिल में हो अगर,
रखना थोड़ा भरोसा हम पर,
हम निभाएंगे दोस्ती का यह रिश्ता इस कदर,
कि भुलाने पर भी ना भुला पाओगे हमें ज़िंदगी भर।

Leave a Comment