Ek Ajnabi Se Mujhe

Ek Ajnabi Se Mujhe

Ek Ajnabi Se Mujhe Itna Pyar Kyu Hai,
Inkaar Karne Par Chahat Ka Ikraar Kyu Hai,
Use Pana Nahi Meri Takdeer Me Shayad,
Fir Har Mod Par Uska Intezar Kyon Hai.

एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है,
इनकार करने पर चाहत का इकरार क्यों है,
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद,
फिर हर मोड़ पर उसका इंतज़ार क्यों है।

Shayari On Wait - Ek Ajnabi Se Mujhe

Leave a Comment