Fariyad Se Bhara Dil

Fariyad Se Bhara Dil

Dil Wo Hai Jo Fariyad Se Bhara Rehta Hai Har Waqt,
Hum Wo Hain Ki Kuchh Munh Se Nikalne Nahi Dete.

दिल वो है जो फरियाद से भरा रहता है हर वक़्त,
हम वो हैं कि कुछ मुँह से निकालने नहीं देते।

Dil De To Is Mijaj Ka Parwerdigar De,
Jo Ranjh Ki Ghadi Bhi Khushi Se Gujar De.

दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे,
जो रंज की घड़ी भी ख़ुशी से गुज़ार दे।

Tumhara Dil Mere Dil Ke Baraber Ho Nahi Sakta,
Wo Sheesha Ho Nahi Sakta, Ye Patthar Ho Nahi Sakta.

तुम्हारा दिल मेरे दिल के बराबर हो नहीं सकता,
वो शीशा हो नहीं सकता, ये पत्थर हो नहीं सकता।

Jo Nigaah-E-Naaz Ka Bismil Nahi,
Dil Nahi Wo Dil Nahi Wo Dil Nahi.

जो निगाह-ए-नाज़ का बिस्मिल नहीं,
दिल नहीं वो दिल नहीं वो दिल नहीं।

Dil Ko Teri Chahat Par Bharosa Bhi Bahut Hai,
Aur Tujhse Bichhad Jane Ka Dar Bhi Nahi Jata.

दिल को तिरी चाहत पर भरोसा भी बहुत है,
और तुझसे बिछड़ जाने का डर भी नहीं जाता।

Leave a Comment