Fir Hua Ishq

Fir Hua Ishq

Bahut The Mere Bhi Iss Duniya Me Apne,
Fir Hua Ishq Aur Hum Aekel Ho Gaye.

बहुत थे मेरे भी इस दुनिया में अपने,
फिर हुआ इश्क और हम अकेले हो गए।

Fir Hua Ishq - Ishq Shayari For Whatsap

Agar Ishq Hua Dobara To Bhi Tujh Se Hi Hoga,
Mere Nadaan Dil Ko Tujh Par Itna Bharosa Hai.

अगर इश्क़ हुआ दोबारा तो भी तुझ से ही होगा,
मेरे नादान दिल को तुझ पर इतना भरोसा है।

Toot Rahe Hain Dil Har Jagah
Na Jaane Ishq Kahaan Hai?

टूट रहे हैं दिल हर जगह
न जाने इश्क़ कहाँ है?

Roz Jale Fir Bhi Na Khaak Huye Ai Khuda ,
Ajeeb Hai Ye Ishq Bujh Kar Bhi Na Raakh Huye.

रोज़ जले फ़िर भी ना ख़ाक हुए ऐ खुदा ,
अजीब है ये इश्क़ बुझ कर भी ना राख हुए।

Leave a Comment