Gujare Waqt Ki Yaadein

Gujare Waqt Ki Yaadein

Sazaa Ban Jaati Hain Gujare Hue Waqt Ki Yaadein,
Na Jane Kyu Chhorh Jaane Ke Liye Zindagi Me Aate Hain Log.

सज़ा बन जाती हैं गुजारे हुए वक़्त की यादें,
न जाने क्यों छोड़ जाने के लिए ज़िन्दगी में आते हैं लोग।

Leave a Comment