Haath Nahi Uthhata

Haath Nahi Uthhata

Dushmano Ko Sazaa Dene Ki Ek Tehzeeb Hai Meri,
Main Haath Nahi Uthhata Bas Najaron Se Gira Deta Hun.

दुश्मनो को सजा देने की एक तहजीब है मेरी,
मै हाथ नहीं उठाता बस नजरों से गिरा देता हूँ।

Hath Nahi Uthana - Attitude Shayari Hindi

Kaafile Me Bilakul Peechhe Hun Koi Baat Hai Warna,
Meri Khaak Tak Na Paate Mere Saath Chalne Wale.

काफिले मे बिलकुल पीछे हूँ कोई बात है वरना,
मेरी ख़ाक तक ना पाते मेरे साथ चलने वाले।

Jameen Par Aao Phir Dekho Hamari Ahmiyat,
Bulandi Se Kabhi Jarron Ka Andaza Nahin Hota.

जमीं पर आओ फिर देखो हमारी अहमियत,
बुलंदी से कभी जर्रों का अंदाज़ा नहीं होता।

Na Main Gira Na Meri Ummeedon Ki Meenaar Gire,
Par Kuchh Log Mujhe Girane Me Kai Baar Gire.

ना मैं गिरा ना मेरी उम्मीदों की मीनार गिरे,
पर कुछ लोग मुझे गिराने मे कई बार गिरे।

Leave a Comment