Hajaar Barq Gire

Hajaar Barq Gire

Hajaar Barq Gire Lakh Aandhiyan Uthhe,
Wo Phool Khil Ke Rahenge Jo Khilne Wale Hain.

हजार बारक़ गिरे लाख आँधियाँ उठे,
वो फूल खिल के रहेंगे जो खिलने वाले हैं।

Waqt Ki Gardishon Ka Gam Na Karo,
Hausle Mushkilon Me Palte Hain.

वक़्त की गर्दिशों का ग़म न करो,
हौसले मुश्किलों में पलते हैं।

Hausle Muskilo me-Inspiretion Shayari

Jo Toofaano Me Palte Ja Rahe Hain,
Bahi Duniya Badalte Ja Rahe Hain.

जो तूफ़ानों में पलते जा रहे हैं,
वही दुनिया बदलते जा रहे हैं।

Ye Aur Baat Ki Aandhi Hamare Bas Me Nahin,
Magar Charaag Jalana To Ikhtiyaar Me Hai.

ये और बात कि आँधी हमारे बस में नहीं,
मगर चराग़ जलाना तो इख़्तियार में है।

Leave a Comment