Halki Barish Hai

Halki Barish Hai

Shayari Halki Barish Hai

Aaj Halki Halki Barish Hai,
Aaj Sard Hawa Ka Raqs Bhi Hai,
Aaj Phool Bhi Nikhre Nikhre Hain,
Aaj Unn Me Tumhara Aks Bhi Hai.

आज हल्की हल्की बारिश है,
आज सरद हवा का रक्स भी है,
आज फूल भी निखरे निखरे हैं,
आज उनमे तुम्हारा अक्स भी है।

Leave a Comment