Hans Ke Dam Nikle

Hans Ke Dam Nikle

Love Insult Shayari

Chaand Se Roshni Jyada
Aur Sitaron Se Kam Nikle,
Jab Bhi Main Tujhe Dekhun
Mera Hans Hans Ke Dam Nikle.

चाँद से रौशनी ज्यादा
और सितारों से कम निकले,
जब भी मैं तुझे देखूं
मेरा हंस हंस के दम निकले।

New Insult Shayari

Aankhon Se Aansuon Ki Bidai Kar Do,
Dil Se Ghamo Ki Judai Kar Do,
Gar Fir Bhi Dil Na Lage Kahin,
To Mere Ghar Ki Putai Kar Do.

आखों से आसुओं की विदाई कर दो,
दिल से ग़मों की जुदाई कर दो,
गर फिर भी दिल न लगे कहीं,
तो मेरे घर की पुताई कर दो।

Jab Tu Hoti Thi Meri Zindagi Me,
To Tere Mere Ishq Ke Chache Bahut The,
Achha Hi Hua Zindagi Se Chali Gayi Tu,
Kyunki Tere Kharche Hi Bahut The.

जब तू होती थी मेरी जिन्दगी में
तो तेरे मेरे इश्क के चर्चे बहुत थे,
अच्छा ही हुआ जिन्दगी से चली गयी तू
क्योकि तेरे खर्चे ही बहुत थे।

Leave a Comment