Hazaro Zakhm Hain

Hazaro Zakhm Hain

Namak Hath Mein Le Kar Sitamgar Soochte Kyun Ho ?
Hazaro Zakhm Hain Dil Par Jaha Chaho Chhidak Daalo.

नमक हाथ में ले कर सितमगर सोचते क्यों हो ?
हजारों जख्म हैं दिल पर जहाँ चाहो छिड़क डालो।

Leave a Comment