Hum Piye Huye The Magar

Hum Piye Huye The Magar

Raat Hum Piye Huye The Magar,
Aap Ki Aankhein Bhi Sharabi Thi,
Fir Humare Kharab Hone Mein,
Aap Hi Kahiye Kya Kharabi Thi.

रात हम पिए हुए थे मगर,
आप की आँखें भी शराबी थीं,
फिर हमारे खराब होने में,
आप ही कहिये क्या खराबी थी।

Phir Na Peene Ki Kasam Kha Lunga,
Saath Jeene Ki Kasam Kha Lunga,
Ek Baar Apni Aankhon Se Pila De,
Sharafat Se Jeene Ki Kasam Kha Lunga.

फिर ना पीने की कसम खा लूँगा,
साथ जीने की कसम खा लूँगा,
एक बार अपनी आँखों से पिला दे,
शराफत से जीने की कसम खा लूँगा।

Main To Pahle Bhi Tha Mahafil Me,
Main To Ab Bhi Hun Mahafil Me,
Fark Sirf Itna Hai Ki,
Pahle Tum Thi Ab Ye Sharab Hai Mahafil Me.

मैं तो पहले भी था महफ़िल में,
मैं तो अब भी हूँ महफ़िल में,
फ़र्क सिर्फ़ इतना है कि,
पहले तुम थी अब ये शराब है महफ़िल में।

Leave a Comment