ilzaam Jhuthe Hi Sahi

ilzaam Jhuthe Hi Sahi

Bas Yehi Soch Kar Koyi Safai Nahi Di Humne,
Ki ilzaam Jhuthe Hi Sahi Par Lagaye To Tumne Hain.

बस यही सोच कर कोई सफाई नहीं दी हमने,
कि इल्ज़ाम झूठे ही सही पर लगाये तो तुमने हैं ।

ilzaam Jhoote Hi Sahi - Best ilzaam Shayari

Leave a Comment