Intezar Har Shaam Tera

Intezar Har Shaam Tera

Intezar Rehta Hai Har Shaam Tera,
Yaadein Kat-ti Hain Le Le Kar Naam Tera,
Muddat Se Baithe Hain Ye Aas Paale,
Ke Kabhi To Aayega Koi Paigaam Tera.

इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा,
यादें कटती हैं ले ले कर नाम तेरा,
मुद्दत से बैठे हैं ये आस पाले,
के कभी तो आएगा कोई पैगाम तेरा।

Leave a Comment