Intezar Ki Tadap

Intezar Ki Tadap

Tadap Kar Dekho Kisi Ki Chahat Me,
Pata Chalega Intezar Kya Hota Hai,
Yun Hi Mil Jata Bina Koi Tadpe To,
Kaise Pata Chalta Ki Pyar Kya Hota Hai.

तड़प कर देखो किसी की चाहत में,
पता चलेगा इंतज़ार क्या होता है,
यूँ ही मिल जाता बिना कोई तड़पे तो,
कैसे पता चलता कि प्यार क्या होता है।

Tadapti Hai Aaj Bhi Rooh Aadhi Raat Ko,
Nikal Padte Hain Aankh Se Aansu Aadhi Raat Ko,
Intezar Me Tere Barsho Beet Gaye Sanam Mere,
Dil Ko Hai Aas Ayegi Tu Aadhi Raat Ko.

तड़पती है आज भी रूह आधी रात को,
निकल पड़ते हैं आँख से आँसू आधी रात को,
इंतज़ार में तेरे वर्षों बीत गए सनम मेरे,
दिल को है आस आएगी तू आधी रात को।

Leave a Comment