Intezar Laut Aane Ka

Intezar Laut Aane Ka

Kisi Roz Hogi Roshan,
Meri Bhi Zindagi,
Intezar Subah Ka Nahi,
Tere Laut Aane Ka Hai.

किसी रोज़ होगी रोशन
मेरी भी ज़िन्दगी,
इंतज़ार सुबह का नहीं
तेरे लौट आने का है।

Intezaar Shayari

Leave a Comment