Ishq Ki Raah Me

Ishq Ki Raah Me

Khuda Ki Rehmat Me Arziyan Nahi Chalti,
Dilon Ke Khel Me Khud-Garziyan Nahi Chalti,
Chal Hi Pade Hain To Ye Jaan Lijiye Huzoor,
Ishq Ki Raah Me Man-Marjiyan Nahi Chalti.

खुदा की रहमत में अर्जियां नहीं चलती,
दिलो के खेल में खुद-गर्जियाँ नही चलती,
चल ही पड़े हैं तो ये जान लीजिये हुजुर,
इश्क की राह में मन-मर्जियां नहीं चलती।

Ishq Ki Raah Me - Ishq Shayari For Girlfriend

Dil Ki Aawaaz Ko Izhaar-Ai-Ishq Kahte Hain,
Jhuki Nigahon Ko Iqaraar-Ai-Ishq Kahte Hain,
Sirf Zubaan Se Kahna Hi Izhaar-Ai-Mohabbat Nahin Hota,
Dabe Honton Ki Muskraahat Ko Bhi Iqarar-Ai-Ishq Kahte Hain.

दिल की आवाज़ को इज़हार-ऐ-इश्क़ कहते हैं,
झुकी निगाहों को इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं,
सिर्फ ज़ुबान से कहना ही इज़हार-ऐ-मोहब्बत नहीं होता,
दबे होंटों की मुस्कराहट को भी इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं।

Nahin Karata Izahaar-Ai-Ishq Wo,
Par Rahta Hai Mere Kareeb Wo,
Dekhun Usaki Aankhon Me To Sharma Jata Hai Wo,
Haay Mera Yaar Bhi Kitna Kamaal Hai.

नहीं करता इज़हार-ऐ-इश्क़ वो,
पर रहता है मेरे करीब वो,
देखूँ उसकी आँखों में तो शर्मा जाता है वो,
हाय मेरा यार भी कितना कमाल है।

Leave a Comment