Izhaar Ki Aarzoo

Izhaar Ki Aarzoo

Aarzoo Ye Hai Ke Izhaar-e-Mohabbat Kar Dein,
Alfaaz Chunte Hain To Lahmhaat Badal Jaate Hain.

आरज़ू ये है के इज़हार-ए-मोहब्बत कर दें,
अलफ़ाज़ चुनते हैं तो लम्हात बदल जाते हैं।

Kise Khwaahish Hai Khwaab Banke Palko Par Sajne Ki,
Hum To Aarzoo Banke Tere Dil Me Basna Chahte Hain.

किसे ख्वाहिश है ख्वाब बनके पलकों पे सजने की,
हम तो आरजू बनके तेरे दिल में बसना चाहते हैं।

Mere Jeene Ki Aarzoo Tere Aane Ki Duaa Kare,
Kuchh Is Tarah Se Dard Bhi Tere Seene Me Hua Kare.

मेरे जीने की ये आरजू तेरे आने की दुआ करे
कुछ इस तरह से दर्द भी तेरे सीने में हुआ करे।

Leave a Comment