Judai Ka Gham

Judai Ka Gham

Unki Tasbir Ko Seene Se Laga Lete Hain,
Iss Tarah Judai Ka Gham Uthha Lete Hain,
Kisi Tarah Jikr Ho Jaye Unka,
To Hans Kar Bhigi Palkein Jhuka Lete Hain.

उनकी तस्वीर को सीने से लगा लेते है,
इस तरह जुदाई का गम उठा लेते है,
किसी तरह ज़िक्र हो जाए उनका,
तो हंस कर भीगी पलके झुका लेते है।

girl alone

Ek Umr Bhar Ki Judai Mere Naseeb Karke,
Wo To Chala Gaya Hai Baatein Ajeeb Karke,
Tarz-e-Wafa Ko Uski Kya Naam Dun Main Ab,
Khud Door Ho Gaya Hai Mujhko Qareeb Karke.

एक उम्र भर की जुदाई मेरे नसीब करके,
वो तो चला गया है बातें अजीब करके,
तर्ज़-ए-वफ़ा को उनकी क्या नाम दूँ मैं अब,
खुद दूर हो गया है मुझको करीब करके।

Gham Hi Mile Itne Jeevan Mein,
Ki Khusiyon Ko Bulana Bhool Gaye,
Huya Teri Judai Mein Aisa Aalam,
Ki Hum Apna Hi Thikana Bhool Gaye.

ग़म ही मिले इतने जीवन में,
कि खुशियों को बुलाना भूल गए,
हुआ तेरी जुदाई में ऐसा आलम,
कि हम अपना ही ठिकाना भूल गए।

Aap To Chale Jaaoge Magar Kaise Jiyenge Hum,
Aapki Judai Ka Jahar Kaise Piyenge Hum,
Aap Bhale Hi Bhula Dena Mujko Magar,
Na Bhule Se Bhi Kabhi Apne Gham Siyenge Hum.

आप तो चले जाओगे मगर कैसे जिएंगे हम,
आपकी जुदाई का जहर कैसे पियेंगे हम,
आप भले ही भुला देना मुझको मगर,
न भूले से भी कभी अपने ग़म सियेंगे हम।

Leave a Comment