Judai Se Dar

Judai Se Dar

Tamnna Ishq To Hum Bhi Rakhte Hai,
Hum Bhi Kisi Ke Dil Me Dhadkte Hai,
Milna Chahte To Bahut Hai Hum Aapse,
Par Milne Ke Bad Judai Se Darte Hai.

तमन्ना इश्क तो हम भी रखते हैं,
हम ही किसी के दिल में धड़कते हैं,
मिलना चाहते तो बहुत हैं हम आपसे,
पर मिलने के बाद जुदाई से डरते हैं।

judai shayari

Kaash Ye Jalim Judai Na Hoti,
Ai Khuda Tune Ye Cheec Banai Na Hoti,
Na Hum Unse Milte Na Pyar Hota,
Zindagi To Apni Thi Parai Na Hoti

काश यह जालिम जुदाई न होती,
ऐ खुदा तूने यह चीज़ बनायीं न होती,
न हम उनसे मिलते न प्यार होता,
ज़िन्दगी जो अपनी थी वो परायी न होती।

Doston Ki Judai Ka Gam Na Karna,
Dur Rahe To Bhi Mohabbat Kam Na Karna ,
Agar Mile Zindagi Ke Kisi Mod Par,
To Hame Dekhkar Ankhein Band Na Karna.

दोस्तों की जुदाई का ग़म न करना,
दूर रहे तो भी मोहब्बत कम न करना,
अगर मिले ज़िन्दगी के किसी मोड़ पर,
तो हमे देख कर आँखें बंद न करना।

Leave a Comment