Kaash Use Bhi

Kaash Use Bhi

Uski Hasrat Ko Mere Dil Me Likhne Wale,
Kaash Use Bhi Mere Naseeb Me Likha Hota.

उसकी हसरत को मेरे दिल में लिखने वाले,
काश उसे भी मेरे नसीब में लिखा होता।

kaash shayari

Rooth Jane Ki Ada Hamko Bhi Aa Hi Jaati,
Manane Wala Kaash Koi Hamein Bhi Milta

रूठ जाने की अदा हमको भी आ ही जाती,
मनाने वाला काश कोई हमे भी मिलाता।

Ai Kaash Kudrat Ka Kahin Ye Niyam Hua Kare,
Tujhe Dekhne Ke Siwa Na Mujhe Koi Kaam Hua Kare.

ऐ काश कुदरत का कहीं ये नियम हुआ करे,
तुझे देखने के सिवा ना मुझे कोई काम हुआ करे।

Kaash Ki Wo Laut Aaye Mujhse Yeh Kahne,
Ki Tum Kaun Hote Ho Mujhse Biachhadne Waale.

काश कि वो लौट आयें मुझसे यह कहने,
कि तुम कौन होते हो मुझसे बिछड़ने वाले।

Kaash Mera Ghar Tere Ghar Ke Kareeb Hota,
Mohabbat Na Sahi Dekhna To Naseeb Hota.

काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,
मोहब्बत ना सही देखना तो नसीब होता।

Leave a Comment