Kafan Me Sote Rahe

Kafan Me Sote Rahe

Jab Hua Mere Ishq Ka Ehsaas Unhein,
Aakar Woh Paas Sara Din Rote Rahe,
Hum Bhi Nikle Khud-Garz Itne Yaaro,
Kafan Me Aankh Band Kiye Sote Rahe.

जब हुआ मेरे इश्क का एहसास उन्हें,
आकार वो पास सारा दिन रोते रहे,
हम भी निकले खुद-गरज इतने यारो,
कफ़न में आँख बंद किये सोते रहे।

Image Of Kafan Me Sote Rhae Shayari

Maut-Dosti Shayari

Toofan Hai Zindagi To Sahil Hai Teri Dosti,
Safar Hai Meri Zindagi Manjil Hai Teri Dosti,
Maut Ke Baad Mil Jaayegi Mujhe Jannat,
Zindagi Bhar Rahe Agar Kaayam Teri Dosti.

तूफ़ान है जिंदगी तो साहिल है तेरी दोस्ती,
सफ़र है मेरी जिंदगी मंजिल है तेरी दोस्ती,
मौत के बाद मिल जायेगी मुझे जन्नत,
जिंदगी भर रहे अगर कायम तेरी दोस्ती।

Dost Tera Bahut Sahara Hai,
Warna Is Duniya Me Kaun Hamara Hai,
Log Marte Hain, Maut Aane Par,
Hame To Aapki Dosti Ne Mara Hai.

दोस्त तेरा बहुत सहारा है,
वरना इस दुनिया में कौन हमारा है,
लोग मरते हैं, मौत आने पर,
हमें तो आपकी दोस्ती ने मारा है।

Zindagi Jakhmo Se Bhari Hai,
Waqt Ko Marham Banana Seekh Lo,
Harna To Hai Ek Din Maut Se,
Doston Ke Saath Zindagi Jeena Seekh Lo.

जिन्दगी जख्मो से भरी है,
वक्त को मरहम बनाना सीख लो,
हारना तो है एक दिन मौत से,
दोस्तों के साथ जिन्दगी जीना सीख लो।

Leave a Comment