Khwab Ki Itni Aukat Nahi

Khwab Ki Itni Aukat Nahi

Aadatein Buri Nahi Shauq Unche Hain,
Varna Kisi Khwab Ki Itni Aukat Nahi Ki
Hum Dekhein Aur Poora Na Ho.

आदतें बुरी नहीं शौक ऊँचे हैं,
वरना किसी ख्वाब की इतनी औकात नहीं कि
हम देखें और पूरा न हो।

Sabke Dilon Me Dhadkna Jaruri Nahi Hota Sahab,
Logon Ki Aankhon Me Khatkne Ka Bhi Ek Mazaa Hai.

सबके दिलों में धड़कना जरूरी नहीं होता साहब,
लोगों की आँखों में खटकने का भी एक मजा है।

Badla Badla Sa Hai Mijaj, Kya Baat Ho Gayi,
Shikayat Humse Hai, Ya Kisi Aur Se Mulakat Ho Gayi.

बदला बदला सा है मिजाज, क्या बात हो गई,
शिकायत हमसे है, या किसी और से मुलाकात हो गई।

Leave a Comment