Khwahishen Sookhti Rahin

Khwahishen Sookhti Rahin

Barishen Kuchh Iss Tarah Se Hoti Rahin Mujh Pe,
Khwahishen Sookhti Rahin Aur Palken Bheegti Rahin.

बारिशें कुछ इस तरह से होती रहीं मुझ पे,
ख्वाहिशें सूखती रहीं और पलकें रोतीं रहीं।

sad boy

Kal Raat Maine Sare Gam Aasman Ko Suna Diye,
Aaj Main Chup Hun Aur Aasman Baras Raha Hai.

कल रात मैंने सारे ग़म आसमान को सुना दिए,
आज मैं चुप हूँ और आसमान बरस रहा है।

Tapish Aur Bard Gai In Chand Boondo Ke Baad,
Kaale Syah Badlo Ne Bhi Bas Yun Hi Bahlaya Mujhe.

तपिश और बढ़ गई इन चंद बूंदों के बाद,
काले सियाह बादलो ने भी बस यूँ ही बहलाया मुझे।

Leave a Comment