Koi Chala Gaya Dur

Koi Chala Gaya Dur

Koi Chala Gaya Dur Humse To Kya Kare,
Koi Mita Gaya Sab Nishan To Kya Kare,
Yaad Aati Hai Unki Hamein Hadd Se Zyada,
Magar Wo Yaad Na Kare To Kya Kare.

कोई चला गया दूर हमसे तो क्या करे,
कोई मिटा गया सब निशान तो क्या करे,
याद आती है उनकी हमें हद से ज्यादा,
मगर वो याद न करे तो क्या करे।

yaadein shayari

Taras Gaye Aapke Deedar Ko,
Fir Bhi Dil Aap Hi Ko Yaad Karta Hai,
Humse Khush Naseeb To Aina Hai Aapka,
Jo Har Roj Aapke Husn Ka Deedar Karta Hai.

तरस गए आपके दीदार को,
फिर भी दिल आप ही को याद करता है,
हमसे खुशनसीब तो आइना है आपका,
जो हर रोज़ आपके हुस्न का दीदार करता है।

Kab Tak Khud Ko Rok Payegi,
Bina Mere Na Wo Rah Payegi,
Main Bas Jaunga Uski Yaado Me,
Ki Fir Wo Dusro Ko Yaad Karna Bhool Jayegi.

कब तक खुद को रोक पाएगी,
बिना मेरे न वो रह पाएगी,
मैं बस जाऊंगा उसकी यादों में इस तरह,
कि फिर वो दूसरों को याद करना भूल जाएगी।

Leave a Comment