Koyi Shaam Aati Hai

Koyi Shaam Aati Hai

Koi Shaam Intezar Shayari

Koyi Shaam Aati Hai Aapki Yaad Lekar,
Koyi Shaam Jati Hai Aapki Yaad Lekar,
Humein To Intezar Hai Uss Shaam Ka,
Jo Aaye Kabhi Aapko Apne Saath Lekar.

कोई शाम आती है आपकी याद लेकर,
कोई शाम जाती है आपकी याद लेकर,
हमें तो इंतज़ार है उस शाम का,
जो आये कभी आपको अपने साथ लेकर।

Leave a Comment