Maa Anparh Hai

Maa Anparh Hai

Gin Leti Hai Din Bagair Mere Gujare Hain Kitne,
Bhala Kaise Kah Doon Ki Maa Anparh Hai Meri.

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने,
भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।

Leave a Comment