Marta Hun Main Jis Par

Marta Hun Main Jis Par

Aafat To Hai Wo Naaz Bhi Andaaj Bhi Lekin,
Marta Hun Main Jis Par Wo Adaa Aur Hi Kuchh Hai.

आफत तो है वो नाज़ भी अंदाज भी लेकिन,
मरता हूँ मैं जिस पर वो अदा और ही कुछ है।

Leave a Comment