Meri Tanhaiyan

Meri Tanhaiyan

Jab Jab Yaad Karogi Apani Tanhaiyo Ko,
Ek Jalta Charaag Sa Nazar Aauga Main,
Raah Se Rahaguzar Ban Ke Bhi Gujar Jaogi,
Ek Mil Ka Patthar Sa Khada Nazar Aauga Main.

जब जब याद करोगी अपनी तन्हाईयो को,
एक जलता चराग सा नज़र आऊगा मैं,
राह से रहगुज़र बन के भी गुजर जाओगी,
एक मिल का पत्थर सा खड़ा नज़र आऊगा मैं।

Tanhayion Ke Sahar Me Ek Ghar Bna Liya,
Rushwaiyon Ko Apna Mukdder Bana Liya,
Dekha Hai Humne Yahan Patthar Ko Poojte Hain Log,
Isliye Humne Bhi Apne Dil Ko Patthar Bna Liya.

तनहाइयों के शहर में एक घर बना लिया,
रुसवाइयों को अपना मुक़द्दर बना लिया,
देखा है हमने यहाँ पत्थर को पूजते हैं लोग,
इसलिए हमने भी अपने दिल को पत्थर बना लिया।

Mila Wo Bhi Nahi Karte Mila Hum Bhi Nahi Karte,
Wafa Wo Bhi Nahi Karte Wafa Hum Bhi Nahi Karte,
Unhe Ruswai Ka Dukh, Hume Tanhayi Ka Dard,
Gila Wo Bhi Nahi Karte Sikwa Hum Hi Nahi Karte.

मिला वो भी नहीं करते, मिला हम भी नहीं करते,
वफ़ा वो भी नहीं करते, वफ़ा हम भी नहीं करते,
उन्हें रुस्वाई का दुःख, हमें तन्हाई का दर्द,
गिला वो भी नहीं करते शिकवा हम भी नहीं करते।

Leave a Comment