Mohabbat Ka Fasana

Mohabbat Ka Fasana

Nazar Me Shokhiyan Lab Par
Mohabbat Ka Fasana Hai,
Meri Ummeed Ki Zad Mein
Abhi Sara Zamana Hai,
Kayi Jeete Hain Dil Ke Desh
Par Maloom Hai Mujhko,
Sikandar Hoon Mujhe Ek Roz
Khaali Haath Jaana Hai.

नज़र में शोखियाँ लब पर
मोहब्बत का फ़साना है,
मेरी उम्मीद की ज़द में
अभी सारा ज़माना है,
कई जीते हैं दिल के देश
पर मालूम है मुझको,
सिकंदर हूँ मुझे इक रोज
खाली हाथ जाना है।

Leave a Comment