Na Gul Khile Hain

Na Gul Khile Hain

Na Gul Khile Hain Na Unse Mile Na May Pee Hai,
Ajeeb Rang Me Ab Ke Bahaar Gujari Hai.

न गुल खिले हैं न उनसे मिले न मय पी है,
अजीब रंग में अब के बहार गुजारी है।

Leave a Comment