Na Kar Afsos

Na Kar Afsos

Na Kar Afsos Mere Dost,
Mere Aansuon Pe Gaur Karke,
Apni Bebasi Par Lakh Rota Hai…
Kabhi Kuchh Khayaal Karke
To Kabhi Kuchh Khayaal Karke.

न कर अफ़सोस मेरे दोस्त,
मेरे आँसुओं पे गौर करके,
अपनी बेबसी पर लाख रोता है…
कभी कुछ ख्याल करके,
तो कभी कुछ ख्याल करके।

sad boy

Jo Baat Munasib Hai Wo Hasil Nahin Karte,
Jo Apni Girsh Me Hai Wo Kho Bhi Rahe Hain,
Be-Ilm Bhi Hum Log Hain Gaflat Bhi Hai Teri,
Afsos Ke Andhe Bhi Hai Aur So Bhi Rahe Hain.

जो बात मुनासिब है वो हासिल नहीं करते,
जो अपनी गिरह में हैं वो खो भी रहे हैं,
बे-इल्म भी हम लोग हैं ग़फ़लत भी है तेरी,
अफ़सोस के अंधे भी हैं और सो भी रहे हैं।

Koi Juda Ho Gaya Koi Khafa Ho Gaya,
Yeh Duniya Ke Logo Ko Kya Ho Gaya,
Jis Sajde Me Mujhe Usko Magna Tha Rab Se,
Afsos Bahi Sajda Kaza Ho Gaya.

कोई जुदा हो गया कोई ख़फ़ा हो गया,
यह दुनिया के लोगों को क्या हो गया,
जिस सजदे में मुझे उस को माँगना था रब से,
अफ़सोस वही सजदा क़ज़ा हो गया।

Leave a Comment