Painful Shayari, Dard Mein Tanhai Mein

Painful Shayari, Dard Mein Tanhai Mein

Ashkon Ka Ek Khushk Dariya Bahta Hai Mujhmein,
Sailaab Hai… Magar Chupchaap-Sa Rahta Hai Mujhmein.

अश्कों का एक खुश्क दरिया बहता है मुझमें,
सैलाब है… मगर चुपचाप-सा रहता है मुझमें।

Dard Mein Tanhai Mein - Dard Shayari

Dhoondhta Raha Main Ishq Ko Dil Ki Gaharai Mein,
Kambakht Mila To Sahi #Dard Mein Tanhai Mein.

ढूंढता रहा मैं इश्क को दिल की गहराई में,
कमबख्त मिला तो सही #दर्द में तन्हाई में।

Kuchh Din Ka Dard Hai Ye Phir Hawa Ho Jaayega,
Naya Jakhm Puraane Wale Ki Dava Ho Jaayega.

कुछ दिन का दर्द है ये फिर हवा हो जायेगा,
नया जख्म पुराने वाले की दवा हो जायेगा।

Apne Dil Mein #Dard Ko Kuchh Yoon Chhupa Rahe Hain,
Aansoo Aankhon Mein Rok Kar Jabran Muskura Rahe Hain.

अपने दिल में #दर्द को कुछ यूँ छुपा रहे हैं,
आंसू आँखों में रोक कर जबरन मुस्कुरा रहे हैं।

Dard Ka Kahar Bas Itna Hi Hai Dost Ki
Aankhe Bolne Lageen Aur Aawaaj Rooth Gayi.

दर्द का कहर बस इतना ही है दोस्त कि
आँखे बोलने लगीं और आवाज रूठ गयी।

Ye Shayari Kuchh Aur Nahin Beintha Ishq Hai Mera,
Tadap Unki Uthati Hai Aur Dard Lafjon Mein Utar Aata Hai.

ये शायरी कुछ और नहीं बेइंतहा इश्क है मेरा,
तड़प उनकी उठती है और दर्द लफ्जों में उतर आता है।

Leave a Comment