Parindo Ko Manjil Milegi Yakinan

Parindo Ko Manjil Milegi Yakinan

Parindo Ko Manjil Milegi Yakinan,
Ye Faile Huye Unke Pankh Bolte Hain,
Wo Log Rahte Hain Khamosh Aksar,
Jamane Me Jinke Hunar Bolte Hain.

परिंदों को मंज़िल मिलेगी यक़ीनन,
ये फैले हुए उनके पंख बोलते हैं,
वो लोग रहते हैं खामोश अक्सर,
जमाने में ज़िनके हुनर बोलते हैं।

Chalta Rahunga Path Par,
Chalne Me Maahir Ban Jaunga,
Ya To Manjil Mil Jaegi,Ya
Achchha Musaafir Ban Jaunga.

चलता रहूँगा पथ पर,
चलने में माहिर बन जाऊंगा,
या तो मंजिल मिल जाएगी,या
अच्छा मुसाफ़िर बन जाऊंगा।

Jeet Nishchit Ho To
Kayar Bhi Lad Sakte Hain,
Bahadur Wo Kahlate Hain
Jo Haar Nishchit Ho,
Phir Bhi Maidaan Nahin Chhodte.

जीत निश्चित हो तो
कायर भी लड़ सकते हैं,
बहादुर वो कहलाते हैं
जो हार निश्चित हो,
फिर भी मैदान नहीं छोड़ते।

Leave a Comment