Peete The Sharab Hum

Peete The Sharab Hum

Peete The Sharab Hum
Usne Chhudayi Apni Kasam Dekar,
Mehfil Me Aaye To Yaaron Ne
Pila Di Usi Ki Kasam Dekar.

पीते थे शराब हम
उसने छुड़ाई अपनी कसम देकर,
महफ़िल में आये तो यारों ने
पिला दी उसकी कसम देकर।

Peete The Sharab Shayari In Hindi

Raushni Karta Hun Andhera Mitane Ke Liye,
Sharab Peeta Hun Main Tujhko Bhulane Ke Liye,
Kyon Na Ban Saki Tu Meri Zindagi,
Aaj Bhi Rota Hun Soch Kar Guzare Zamane Ko.

रौशनी करता हूँ अँधेरा मिटाने के लिए,
शराब पीता हूँ मैं तुझको भुलाने के लिए,
क्यों न बन सकी तू मेरी ज़िंदगी,
आज भी रोता हूँ सोच कर गुज़रे ज़माने को।

Har Baat Ka Koi Jawaab Nahi Hota,
Har Ishq Ka Naam Kharab Nahi Hota,
Yun To Jhoom Lete Hain Nashe Mein Peene Wale,
Magar Har Nashe Ka Naam Sharab Nahi Hota.

हर बात का कोई जवाब नही होता,
हर इश्क का नाम खराब नही होता,
यूँ तो झूम लेते हैं नशे में पीने वाले,
मगर हर नशे का नाम शराब नही होता।

Leave a Comment