Phir Bhi Akele Hain

Phir Bhi Akele Hain

Loneliness Shayari Fir Bhi Akele

Raat Ki Tanhaion Me Bechain Hain Hum,
Mehfil Jami Hai Phir Bhi Akele Hain Hum,
Aap Humse Pyaar Karein Ya Na Karein,
Par Aapke Bina Bilkul Adhoore Hain Hum.

रात की तनहाइयों में बेचैन हैं हम,
महफ़िल जमी है फिर भी अकेले हैं हम,
आप हमसे प्यार करें या न करें,
पर आपके बिना बिलकुल अधूरे हैं हम।

Leave a Comment