Rang Zulfon Ka

Rang Zulfon Ka

Bijliyon Ne Seekh Li Unke Tabassum Ki Adaa,
Rang Zulfon Ka Chura Layi Ghata Barsat Ki.

बिजलिओं ने सीख ली उनके तबस्सुम की अदा,
रंग जुल्फों का चुरा लिया घटा बरसात की।

Bijliyon Ne Seekh Li - Zulf Shayari

Kuchh Bikhari Huyi Yaadon Ke Kisse Bhi Bahut The,
Kuchh Us Ne Bhi Baalon Ko Khula Chhod Diya Tha.

कुछ बिखरी हुई यादों के क़िस्से भी बहुत थे,
कुछ उसने भी बालों को खुला छोड़ दिया था।

Phir Yaad Bahut Aaeygi Zulfon Ki Ghani Shaam,
Jab Dhoop Me Saaya Koyi Sar Par Na Milega.

फिर याद बहुत आएगी ज़ुल्फ़ों की घनी शाम,
जब धूप में साया कोई सर पर न मिलेगा।

Poochha Jo Unse Chaand Nikalta Hai Kis Tarah,
Zulfon Ko Rukh Pe Daal Ke Jhatka Diya Ki Yun.

पूछा जो उन से चाँद निकलता है किस तरह,
ज़ुल्फ़ों को रुख़ पे डाल के झटका दिया कि यूँ।

Leave a Comment