Shayari from Movie : Fanna

Shayari from Movie : Fanna

Rone De Tu Aaj Humko, Tu Aankhein Sujane De,
Baaho Me Le Le Aur Khud Ko Bheeg Jaane De,
Hai Jo Seene Me Qaid Dariya Wo Chhoot Jayega,
Hai Itna Dard Ki Tera Daaman Bheeg Jaaega.

रोने दे आज हमको तू आँखे सुजाने दे
बाहों में ले ले और खुद को भीग जाने दे
है जो सीने में कैद दरिया वो छुट जाएगा
है इतना दर्द के तेरा दामन भीग जायेगा ।

Tere Dil Me Meri Saanson Ko Panah Mil Jaaye
Tere Ishq Me Meri Jaan Fanaa Ho Jaaye.
Adhuri Saans Thi Dhadkan Adhuri Thi Adhure Hum,
Magar Ab Chaand Poora Hain
Falak Pe Aur Ab Poore Hain Ham.

तेरे दिल में मेरी साँसों को पनाह मिल जाये
तेरे इश्क में मेरी जां फ़ना हो जाय,
अधूरी सांस थी धड़कन अधुरी थी अधूरे हम,
मगर अब चाँद पूरा है 
फलक पे और अब पूरे हैं हम ।

Humse Dur Jaoge Kaise,
Dil Se Hume Bhulaoge Kaise,
Hum Wo Khushbu Hai Jo Saason Me Baste Hain,
Khud Ki Saason Ko Rok Paoge Kaise.

हमसे दूर जाओगे कैसे,
दिल से हमें भुलाओगे कैसे,
हम वो खुशबू हैं जो सांसों में बसते हैं,
खुद की सांसों को रोक पाओगे कैसे ।

Ai Khuda Aaj Ye Faisla Karde,
Use Mera Ya Mujhe Uska Karde.
Bahut Dukh Sahe Hai Maine,
Koi Khushi Ab To Muqaddar Karde.
Bahut Mushkil Lagta Hai Usse Dur Rehna,
Judai Ke Safar Ko Kam Karde.
Jitna Dur Chale Gaye Wo Mujhse,
Use Utna Kareeb Karde.
Nahi Likha Agar Naseeb Me Uska Naam,
To Khatm Kar Ye Zindagi
Aur Mujhe Fanaa Karde.

ऐ खुदा आज ये फैसला कर दे,
उसे मेरा या मुझे उसका कर दे,
बहुत दुःख सहे हैं मैंने,
कोई खुशी अब तो मुकद्दर कर दे,
बहुत मुश्किल लगता है उससे दूर रहना,
जुदाई के सफ़र को कम कर दे,
जितना दूर चले गए वो मुझसे,
उसे उतना करीब कर दे,
नहीं लिखा नसीब में अगर उसका नाम,
तो ख़तम कर ये ज़िन्दगी,
और मुझे फ़ना कर दे ।

Leave a Comment