Sirf Tujhe Chaaha

Sirf Tujhe Chaaha

Teri Mohabbat Se Lekar
Tere Alvida Kehne Tak,
Maine Sirf Tujhe Chaaha
Tujh Se Kuchh Nahi Chaha.

तेरी मोहब्बत से लेकर
तेरे अलविदा कहने तक,
मैंने सिर्फ तुझे चाहा
तुझ से कुछ नहीं चाहा।

Sirf Tujhe Chaaha - Sad Shayari

Har Khushi Gam Ka Eilaan Hai,
Har Mulaqaat Judai Ka Eilaan Hai,
Na Rakh Kisi Se Ummeed,
Har Ummeed Dil Tootne Ka Farmann Hai.

हर ख़ुशी गम का ऐलान है,
हर मुलाक़ात जुदाई का ऐलान है,
ना रख किसी से उम्मीद,
हर उम्मीद दिल टूटने का फरमान है।

Jalte Huye Dil Ko Aur Mat Jalana,
Roti Hui Aankhon Ko Aur Mat Rulana,
Teri Judai Me Ham Pahle Hi Mar Chuke Hain,
Mare Huye Insaan Ko Aur Mat Marna.

जलते हुए दिल को और मत जलाना,
रोती हुई आँखों को और मत रुलाना,
तेरी जुदाई में हम पहले ही मर चुके हैं,
मरे हुए इंसान को और मत मारना।

Leave a Comment